मुनि श्री पूज्य सागर महाराज का 38वां जन्मदिवस समाचार

July 03, 2017

प्रतिलिपि:

बच्चों ने किया विमोचन, काटा केक

जयपुर। मुनि श्री पूज्य सागर महाराज का 38वां जन्मदिवस जयपुर में भी मनाया गया। इस अवसर पर श्रीफल न्यूज परिवार के सदस्य सुरेश सबलावत की तरफ से टाबर संस्था के निराश्रित बच्चों को भोजन और कपड़े वितरित किए गए। संस्था प्रांगण में हुए इस कार्यक्रम की शुरुआत में सर्वप्रथम महाराज श्री के जीवन पर आधारित पुस्तक ‘दिग्दर्शक चक्रेश’ का विमोचन बच्चों के द्वारा किया गया। इसके बाद सभी बच्चों ने केक काटा। सभी बच्चों को कपड़े वितरित किए गए और उन्हें प्रेम भाव से भोजन भी कराया गया। मध्यप्रदेश के पिपलगोन में जन्मे और राजस्थान के भीलूड़ा में दीक्षित मुनि श्री इस समय बैंगलुरु में चातुर्मास पर हैं। वह अपने गुरु पुष्पदंत सागर जी महाराज के साथ वहां वर्ष 2018 में श्रवणबेलगोला में होने वाले बाहुबली भगवान के महामस्तकाभिषेक के लिए पैदल विहार करके पहुंचे हैं। मुनि श्री का कहना है कि एक संत का जीवन लक्ष्य लोगों में धर्म के प्रति आस्था जगाना है और निर्मल हृदय रखने वाले बच्चे धर्म, आस्था और संस्कृति से सबसे पहले जोड़े जा सकते हैं। मुनि श्री की इसी भावना को ध्यान में रखते हुए श्रीफल न्यूज परिवार ने मुनि श्री के जन्मदिवस का आयोजन निराश्रित बच्चों के सान्निध्य में किया। मुनि श्री के जन्मदिवस के अवसर पर जैन और भारतीय संस्कृति के संरक्षण के लिए ‘सेलिब्रेट कल्चर’ अभियान की अवधारणा प्रस्तुत की गई है। इस अभियान तहत मुनि श्री के मार्गदर्शन में अनेक कार्यक्रम और व्याख्यान आयोजित किए जाएंगे

श्रीफल न्यूज़

आज का सुविचार

” कुछ हँस के बोल दिया करो,
कुछ हँस के टाल दिया करो ।
यूँ तो बहुत परेशानियाँ हैं तुमको भी मुझको भी,
मगर कुछ फैसले वक्त पे डाल दिया करो ।
न जाने कल कोई हँसाने वाला मिले न मिले,
इसलिये आज ही
हसरत निकाल लिया करो “.

भगवान महावीर का समवशरण कितने योजन

आज के विजेता सभी प्रश्न

किसके अतिशय के कारण समवशरण में सभी अंतर्मुहूर्त में सीढ़ियाँ चढ़ जाते हैं?

Answer- केवली के अतिशय के कारण

विजेता का नाम : अंकिता दोषी धरियावाद

© 2017 ShreephalNews.com. All Rights Reserved.

Design & Developed by Yeah InfoTech.