Aalekh

मेरी मॉ

06 Jan 2017

आज मॉ मेरे स्मृतिपटल यादों के पुष्प महका रही हैं। उपकारी,परोपकारी,करूणादानी मॉं की आध्यात्धिक याद…

सफर…एक बालक के धर्मपूंज बनने का!

24 Dec 2016

भीड़ से अलग दिखने की चाह में हमेशा कुछ नया करने की कोशिश करने वाला…

अंत:करण की पवित्रता है धर्म

15 Sep 2016

धर्म मात्र बौद्धिक उपलब्धि ही नहीं है, वह इंसान की स्वाभाविक आत्मा है। धर्म का…

बेटियां शुभकामनाएं हैं

15 Sep 2016

वर्तमान समय में बेटी को जन्म लेने से पूर्व ही मौत के घाट उतारा जा…

खुशियों का संसार है माँ के कदमों में

15 Sep 2016

दुनिया का सबसे अनूठा शब्द है ’माँ’| इस शब्द में सारी कायनात की शक्ति समायी…

अहिंसा परम धर्म और धर्म पवित्र अनुष्ठान है

15 Sep 2016

भगवान महावीर का यह उपदेश है कि ‘मनुष्य को अपने जीवन में जो धारण करना…

आज का सुविचार

” कुछ हँस के बोल दिया करो,
कुछ हँस के टाल दिया करो ।
यूँ तो बहुत परेशानियाँ हैं तुमको भी मुझको भी,
मगर कुछ फैसले वक्त पे डाल दिया करो ।
न जाने कल कोई हँसाने वाला मिले न मिले,
इसलिये आज ही
हसरत निकाल लिया करो “.

भगवान महावीर का समवशरण कितने योजन

आज के विजेता सभी प्रश्न

किसके अतिशय के कारण समवशरण में सभी अंतर्मुहूर्त में सीढ़ियाँ चढ़ जाते हैं?

Answer- केवली के अतिशय के कारण

विजेता का नाम : अंकिता दोषी धरियावाद

© 2017 ShreephalNews.com. All Rights Reserved.

Design & Developed by Yeah InfoTech.