खुशियों का संसार है माँ के कदमों में

दुनिया का सबसे अनूठा शब्द है ’माँ’| इस शब्द में सारी कायनात की शक्ति समायी हुई है | माँ शब्द एक अक्षर व दो मात्राओं का मेल है| मेरे विचार में ’म से मन’ व ’अ की मात्रा सेआवाज़’ अतैव मन की आवाज़ है मां| यह सोचकर भी आश्चर्य लगता है कि कैसे माँ अपने बच्चे की हर ज़रुरत का ध्यान पहले से रखती है| उसकी हर आवश्यकता का निदान उसके पास होता है। न केवल इंसानों में बल्कि जानवरों में भी माँ केवल माँ होती है।…

आज का सुविचार

” कुछ हँस के बोल दिया करो,
कुछ हँस के टाल दिया करो ।
यूँ तो बहुत परेशानियाँ हैं तुमको भी मुझको भी,
मगर कुछ फैसले वक्त पे डाल दिया करो ।
न जाने कल कोई हँसाने वाला मिले न मिले,
इसलिये आज ही
हसरत निकाल लिया करो “.

भगवान महावीर का समवशरण कितने योजन

आज के विजेता सभी प्रश्न

किसके अतिशय के कारण समवशरण में सभी अंतर्मुहूर्त में सीढ़ियाँ चढ़ जाते हैं?

Answer- केवली के अतिशय के कारण

विजेता का नाम : अंकिता दोषी धरियावाद

© 2017 ShreephalNews.com. All Rights Reserved.

Design & Developed by Yeah InfoTech.