Month : April 2021

आलेख

मंथन: समाज को दिशा और प्रेरणा देते हैं जयंती पर्व- प्रियंका सेठी,किशनगढ़

admin
बंधुओं…इस माह हम जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ और अंतिम तीर्थंकर भगवान महावीर की जयंती मनाने जा रहे हैं। आज से हजारों-लाखों वर्ष...
आलेख

मंथन: अंहिसा के प्रणेता वर्धमान महावीर

admin
वर्तमान काल में जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान ़़ऋषभदेव से आरम्भ हो कर 24 तीर्थंकरों की यह परम्परा भगवान महावीर पर आकर समाप्त होती...
समाचार

अतिशय क्षेत्र गिरार गिरी में आदिनाथ जन्म जयंती एवं तप कल्याणक महोत्सव श्रद्धा पूर्वक मनाया गया

admin
तीर्थंकर ऋषभदेव की शिक्षाएं आज अधिक प्रासंगिक हैं : मुनि श्री प्रवरसागर महाराज  गिरार,ललितपुर। मड़ावरा विकासखंड में स्थित अतिशय क्षेत्र गिरार गिरीजी में जैनधर्म के...
आलेख

भगवान ऋषभदेव ने मानव जाति को स्वावलम्बन की कला सिखाई

admin
-डाॅ. महेन्द्रकुमार जैन ‘मनुज’, इन्दौर जैन परम्परा में मान्य चैबीस तीर्थंकरों की श्रृखंला में भगवान ऋषभदेव का नाम प्रथम स्थान पर है और अंतिम तीर्थंकर...
आलेख

भगवान आदिनाथ द्वारा बताई गई 72 कलाएं-अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर

admin
भगवान आदिनाथ ने छह विद्याओं के साथ ही मानव (पुरुष) जाति को 72 कलाओं का ज्ञान भी दिया था। आइए जानते हैं इन कलाओं के...
समाचार

ऋषभदेव जन्म कल्याणक, 05 अप्रैल , 2021 के अवसर पर प्रासंगिक आलेख : कर्म संस्कृति के सूत्रधार तीर्थंकर ऋषभदेव

admin
ऋषभदेव जन्म कल्याणक, 05 अप्रैल , 2021 के अवसर पर प्रासंगिक आलेख : कर्म संस्कृति के सूत्रधार तीर्थंकर ऋषभदेव -डॉ. सुनील जैन संचय, ललितपुर भगवान...