स्वाध्याय

स्वाध्याय – 5 : अरिहंत परमेष्ठी के जन्म के 10 अतिशय

arihant parmeshthi ke janm ke 10 atishay

1. अतिशय सुन्दर शरीर,
2. अत्यन्त सुगंधित शरीर,
3. पसीना रहित शरीर,
4. मल-मूत्र रहित शरीर।
5. हित-मित-प्रिय वचन,
6. अतुल बल,
7. सफेद खून,
8. शरीर में 1008 लक्षण होते हैं। जिसमें शंख,गदा, चक्र आदि 108 लक्षण तथा तिल मसूरिका आदि 900 व्यञ्जन होते हैं,
9. समचतुरस्र संस्थान,
10. वज़ऋषभनाराचसंहनन

Spread the love

Related posts

स्वाध्याय – 10 : श्रवणबेलगोला के भगवान बाहुबली की मूर्ति की ऊंचाई का वर्णन

admin

स्वाध्याय – 1 : ‘सूर्यास्त पश्चात भोजन विषाक्त कैसे हो जाता है?’ -अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

admin

स्वाध्याय – 8 : अष्ट प्रातिहार्य

admin

Leave a Comment