समाचार

जहाजपुर में हुआ अभूतपूर्व राष्ट्रीय युवा सम्मेलन सम्पन्न

जीवन में ज्ञान से नहीं आचरण से बदलाव होता है।
हजारों युवाओं को अंतर्राष्ट्रीय मोटिवेशनल स्पीकर डाॅ.उज्ज्वल पाटनी ने संदेश दिया।

जहाजपुर (स्वस्तिधाम)- 1008 श्री मुनि सुव्रतनाथ दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र स्वस्तिधाम जहाजपुर में दूसरा राष्ट्रीय युवा सम्मेलन 13 मार्च 2021 को गुरुमाॅं गणिनी आर्यिका 105 स्वस्ति भूषण माताजी के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ। राजस्थान के अनेक स्थानों से आए हजारों युवाओं को अंतर्राष्ट्रीय मोटिवेशनल स्पीकर डाॅ.उज्ज्वल पाटनी ने संबोधित कर लगातार तीन घण्टे तक मंत्र मुग्ध करते हुए जीवन में सोचने के तरीके व आदतों पर सूत्र प्रदान किए।

मुख्य संयोजक श्री हसमुख जैन गांधी (इन्दौर) के संयोजन में क्षेत्र कमेटी के अध्यक्ष श्री विनोद जैन टोरडी (पारस चैनल), महामंत्री श्री ज्ञानेन्द्र जैन व पदाधिकारियों ने समागत अतिथियों, युवाओं की शानदार व्यवस्था की। हम जिनके साथ बैठते है वे ही हमारी ऊॅंचाई तय करते है

अनेक पुस्तकों के लेखक, समाज गौरव, डाॅ.उज्ज्वल पाटनी ने कहा कि जीवन में ज्ञान से नहीं आचरण से बदलाव होता है। सोचने के पाॅंच तरीके बताते हुए उन्होंने स्वयं को सर्वाधिक महत्वपूर्ण मानने, बहाने नहीं बनाना, सही मानसिकता, क्या संभव है, आप जहां हो वहां अपना शत-प्रतिशत देने की बात कहीं। जीवन में आठ आदतें बनाने की बात कहते हुए कहा कि हम सभी ज्ञान की बातें करते है। व्हाट्सएप, फेसबुक पर भी बहुत ज्ञान मिलता है, लेकिन हम अमल नहीं करते, जीवन में बदलाव अमल करने से आता है। सर्वप्रथम अपनी आदतों के संदर्भ में कहा कि हमेशा जिंदा भाषा बोलिए, जीवन आनंद के साथ जियो, उसे काटो मत। जीवन में ड्राइविंग करते समय, भोजन, मंदिर, मार्निंग में अपने बच्चों के साथ रहने पर मोबाईल से दूर रहने का नियम बनाने की बात कहीं, प्रतिदिन योगा, ध्यान, शारीरिक व्यायाम करने के साथ अच्छी संगत अपनाने पर जोर देते हुए कहा कि हम जिनके साथ बैठते है वे ही हमारी ऊॅंचाई तय करते है। सोने (निद्रा) से पहले अपना सेल्फ आडिट करते रहो सोचिये कि आज मैने ऐसा क्या किया जो मुझे नहीं करना था । आज मैंने ऐसा क्या किया जिस पर मुझे गर्व है। एक दिन, एक लक्ष्य पूर्ण करने का संकल्प लें, हर दिन किसी एक व्यक्ति की तारीफ करें। एक मिनिट की माफी मांगे। रात्रि में सोने से पहले जो हुआ उसे भूले साथ ही जैनधर्म के अनेकांत का पालन करें।

डाॅ.उज्ज्वल पाटनी ने स्वयं द्वारा लिखित गीत ‘‘मैं तैयार हूॅं’’ को गाकर सभी उपस्थितजनों को झूमने पर मजबूर कर दिया। स्वस्तिधाम की ओर से डाॅ.पाटनी का शाॅल, श्रीफल, मोमेंटो से सम्मान किया गया।

प्रतिवर्ष आयोजित होगा राष्ट्रीय युवा सम्मेलन – हसमुख जैन गांधी, इन्दौर

राष्ट्रीय युवा सम्मेलन के मुख्य संयोजक श्री हसमुख जैन गांधी ने बताया कि यह सम्मेलन का दूसरा वर्ष है। विगत वर्ष 2020 में पूज्य गणिनी आर्यिका स्वस्तिभूषण माताजी की प्रेरणा से यह आयोजन प्रारंभ हुआ है। 2021 में जो उत्साह युवा सम्मेलन व जहाजपुर के लिए यहां दिखाई दे रहा है, इससे माताजी की अनुमति से प्रतिवर्ष युवा सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। साथ ही पूज्य माताजी की प्रेरणा से स्थापित स्वस्तिधाम सम्मान भी प्रतिवर्ष जैन दर्शन में उल्लेखनीय योगदान हेतु प्रदान किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि श्री हसमुख गांधी जैन युवा रत्न सम्मान से सम्मानित है। आपके द्वारा श्रवण बेलगोला महामस्तकाभिषेक 2018 के पूर्व सेव नेचर – सेव हेरिटेज के संदेश के साथ राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का आयोजन किया गया था जिसमें पाॅंच हजार से अधिक युवाओं ने हेरिटेज वाक कर वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया था।

प्रो.डाॅ.अनुपम जैन प्रथम स्वस्ति धाम सम्मान से सम्मानित

जैन गणित पर शोध एवं एक लाख तेरासी हजार से अधिक पाण्डुलिपियों को सूचीबद्ध व संग्रहित करने व जैन दर्शन की प्रभावना में उल्लेखनीय योगदान हेतु कुन्दकुन्द ज्ञानपीठ इन्दौर के निदेषक प्रो.डाॅ.अनुपम जैन (इन्दौर) को गणिनी आर्यिका स्वस्ति भूषण माताजी की प्रेरणा से स्थापित प्रथम ‘स्वस्तिधाम’ सम्मान से सम्मानित किया गया। जिसमें रजत प्रशस्ति व शाॅल, श्रीफल के साथ 51 हजार रुपये की राशि प्रदान की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरिष्ठ भाजपा नेता श्री चंद्रराज सिंघवी, कमेटी अध्यक्ष श्री विनोद जैन, श्री हंसमुख गांधी, आर.के.जैन (एक्साइज), पारस जैन (मंत्री), महावीर पोद्दार, श्रेयांष जैन, नेमीचंद जैन, भानु जैन, धनराज जैन आदि ने डाॅ.जैन को सम्मानित किया। वाचन राजेन्द्र महावीर (सनावद) ने किया। डाॅ.अनुपम जैन ने तीन सौ वर्ष प्राचीन ताड़पत्र का ग्रंथ भेंट करते हुए ग्रंथालय में 100 पुस्तकें स्वयं की ओर से भेंट करने की घोषणा की। कार्यक्रम का मंगलाचरण संघस्थ ब्र.प्रियंका दीदी ने सुमधुर कंठ से किया। जहाजपुर बालिका मण्डल ने मंगलाचरण नृत्य प्रस्तुत किया। स्वागत उद्बोधन स्वस्तिधाम के अध्यक्ष श्री विनोद जैन टोरडी वालों ने करते हुए स्वस्तिधाम के विकास को गणिनी आर्यिका स्वस्ति भूषण माताजी की इच्छा शक्ति का चमत्कार बताया।

महिला मण्डल ने की आकर्षक नृत्य नाटिका

जहाजपुर, देवली, केकड़ी शाहपुरा के महिला मण्डलों ने समसामयिक विषयों पर आधारित नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। जिसमें प्रथम स्थान स्वस्ति बालिका मण्डल जहाजपुर, द्वितीय देवली ने प्राप्त किया। निर्णायक श्री लोकेश जैन, श्री मनीष पालीवाल (जहाजपुर) थे । कार्यक्रम का संचालन डाॅ.ज्योति जोषी, राजेन्द्र जैन ‘महावीर’ (सनावद), श्री भानु जैन (जहाजपुर) ने किया। कार्यक्रम के सहयोगी सर्वश्री आर.के.जैन (एक्साइज), शरद पाणोत, राकेश विनायका (इन्दौर), यथार्थ पाटनी, रितेश सेठी (कोटा), यश कमल अजमेरा, भारत भूषण जैन (जयपुर), पत्रकार एवं लेखक राजेन्द्र महावीर (सनावद), प्रदीप लुहाडिया (देवली), विनोद जैन बल्लू, प्रवीण पोद्दार (जहाजपुर), कमलेश जैन (ब्यावर) आदि का सम्मान क्षेत्र कमेटी ने किया। मुख्य संयोजक श्री हसमुख गांधी को विशेष रुप से सम्मानित किया गया। आभार श्री ज्ञानेन्द्र जैन (महामंत्री) ने व्यक्त किया। समस्त प्रतिभागियों को आकर्षक किट प्रदान की गई। कोटा, शाहपुरा आदि स्थानों से आए श्रद्धालुओं ने माताजी को श्रीफल समर्पित कर उनके नगर में पधारकर धर्मलाभ की अपील की। संभावना व्यक्त की जा रही है कि महावीर जयंती माताजी द्वारा कोटा में मनाई जा सकती है।

महामस्तकाभिषेक में झुमे श्रद्धालु

नवीन जिन मंदिर में श्री मुनि सुव्रतनाथजी की प्रतिमा विराजमान होने के बाद पहली बार आई शनिअमावस्या पर महामस्तकाभिषेक का आयोजन देशभर से आए श्रद्धालुओं ने किया। विशाल मंदिर परिसर में पैर रखने का स्थान नहीं था। श्रद्धालु पलक झपकाये बिना अपने आराध्य का अभिषेक देख हर्ष मिश्रित भाव व्यक्त कर रहे थे। आर्यिका रत्न स्वस्तिभूषण माताजी के साथ आर्यिका विशिष्ट श्री माताजी का आगमन भी क्षेत्र पर हुआ।

सरस्वती मंदिर व वृद्धाश्रम का निर्माण होगा

आर्यिका श्री स्वस्तिभूषण माताजी ने अपने प्रेरक उद्बोधन में कहा कि संकल्प ही धन है। जीवन में संकल्प का बड़ा महत्व है। उन्होंने जनता द्वारा प्रेषित शब्द को पकड़कर अपनी चिरपरिचित ‘बड़ा ही महत्व है’ की चार-चार लाईन सुनाकर श्रद्धालुओं की थकान को हर लिया। माताजी ने कहा कि क्षेत्र निर्माण के बाद बहुत से सुझाव प्राप्त हुए है, अभी तात्कालिक रुप से स्वस्तिधाम में जिनवाणी की सेवा के लिए सरस्वती मंदिर व वृद्धाश्रम का निर्माण किया जाएगा। माताजी की घोषणा के साथ ही अनेकजनों ने अपनी दानराषि की घोषणा की। पारस चैनल के माध्यम से भी अनेकजनों ने अभिषेक का निर्माण के लिए दानराषि की घोषणा की। सुंदर आकर्षक मंदिर व सर्वसुविधा युक्त अत्याधुनिक कमरों का निर्माण अल्पसमय में होने पर समाजजनों ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

Spread the love

Related posts

रजत जयंती स्मारिका “संस्कार“ का हुआ विमोचन

admin

अतिशय क्षेत्र गिरार गिरी में आदिनाथ जन्म जयंती एवं तप कल्याणक महोत्सव श्रद्धा पूर्वक मनाया गया

admin

फरवरी 2022 में आचार्यश्री के सान्निध्य में महावीरजी में होगा भगवान महावीर स्वामी की प्रतिमा का महामस्तकाभिषेक व पंचकल्याणक

admin

Leave a Comment