समाचार

अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज का भीलूड़ा गाँव मे मंगल प्रवेश हुआ

भीलूड़ा(डूंगरपुर) ।  मुनि पूज्य सागर महाराज ससंघ बुधवार को जैन मंदिर भीलूड़ा में चातुर्मास के लिए मंगल प्रवेश हुआ। जैन समाजजनों की ओर से सेलोता मोड़ के पास मुनि संघ की भव्य पुष्पवर्षा के साथ आगवानी की गई। वहां से गाजे-बाजे के साथ मुनि संघ को गाँव के विभिन्न मार्गों से होते हुये जैन मंदिर  लाया गया। इस बीच भक्तों ने जगह-जगह उनका पाद प्रक्षालन किया।  भीलूड़ा में प्रवेश के बाद मुनि पूज्य सागर महाराज ने दिगंबर जैन मंदिर में दर्शन किये जिसके बाद मूलनायक शान्तिनाथ भगवान का पंचामृत अभिषेक करवाया ।  मंदिर प्रांगण में  धर्मसभा में प्रवचन दिए।

धर्मसभा को संबोधित करते हुए मुनि पूज्य सागर में कहा आस्था श्रद्धा विश्वास धर्म की जड़े है । भगवान पर आस्था श्रद्धा विश्वास चोर ओर साहूकार दोनों की होती है । प्रभु उसकी ही सुनता है जो धर्म की राह पर चलता है । जीवन मे  पैसा कमाना इज्जत कामना आसान है  लेकिन उसको बनाये रखना आसान नही है ।धर्म की राह पर चल कर पैसा इज्जत कमाई वही कायम रहती है । इस अवसर पर  क्षुल्लक अनुश्रमण सागर महाराज सहित जैन समाज अध्यक्ष रमनलाल टुकावत कान्तिलाल भरड़ा , ओमप्रकाश भरड़ा ,  चेतनलाल भरड़ा श्रीपाल भरड़ा ,  हितेश शाह कमल प्रकाश धर्मेंद्र जैन भरड़ा जयन्त भरड़ा मोहित जैनललित जैन ,भवेश जैन, मांगीलाल जैन जय प्रकाश भरड़ा, भूपेंद्र जैन शेलेन्द्र जैन मुकेश तलाटी ,बसन्तलाल जैन, रवि जैन ,हितेश भरड़ा , चद्रप्रकाश शाह ओर समाजजन मौजूद रहे।

Spread the love

Related posts

साधुओं को आहार देने से होती है अक्षय पुण्य की प्राप्ति- अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर

admin

91 वर्षीय पूरन चन्द जैन ने दूसरा टीका लगवाया

admin

तीर्थंकर सुपार्श्वनाथ के मोक्ष कल्याणक 05 मार्च 2021 पर विशेष : प्रासङ्गिक हैं तीर्थंकर सुपार्श्वनाथ के उपदेश -डॉ सुनील जैन संचय, ललितपुर

admin

Leave a Comment